जौनपुर:- डॉ. सिद्धार्थ ने ऑपरेशन कर पेट से निकाला गिलास, जाने कैसे पता चला ?

न्यूज़ अब तक आपके साथ
देश प्रदेश का सबसे बड़ा न्यूज़ नेटवर्क बनाने का सतत प्रयास जारी।

यूपी के जौनपुर जिले के महाराजगंज विकास खण्ड क्षेत्र( ब्लॉक ) के कोटवा भटौली गांव निवासी समरनाथ ( 50 वर्ष) के पेट का ऑपरेशन कर पानी पीने का गिलास निकालकर डॉक्टर सिद्धार्थ ने उनकी जान बचाई। जानकारी के अनुसार समरजीत को तीन-चार दिन से पेट में बहुत दर्द हो रहा था वह कई अस्पतालों में गए लेकिन वहां पर कोई राहत नहीं मिला तो उसके बाद रिश्तेदारों की सलाह पर वाजिदपुर स्थित एक निजी हॉस्पिटल में आकर डॉक्टर लाल बहादुर सिद्धार्थ को अपने पेट के दर्द के विषय में बताया  डॉक्टर सिद्धार्थ ने मरीज का एक्सरे कराया तो देखकर आश्चर्य चकित रह गए,देखा की पेट में मोटे टाइप सा कुछ दिख रहा था। उसके बाद डॉक्टर सिद्धार्थ ने ऑपरेशन किया तब पता चला कि पेट में एक मोटा गिलास है।कठिन परिश्रम से डॉक्टर ने गिलास निकालकर समरजीत की जान बचाई ।
डॉ सिद्धार्थ ने बताया कि पेट मे यह गिलास पीछे की साइड से गया था। सफल ऑपरेशन होने पर परिवार के लोगों में खुशी की लहर दौड़ गई।डॉक्टर लाल बहादुर सिद्धार्थ ने बताया कि इस तरीके का यह मेरे द्वारा तीसरा ऑपरेशन किया गया है। इसके पहले मेरे द्वारा पेट में बोतल पाए जाने का सफल ऑपरेशन किया गया है। यह ऑपरेशन हमारे 18 साल की प्रैक्टिस में बहुत आश्चर्यजनक ऑपरेशन रहा। जिसे मैंने 2 घंटे में किया ,लोगों में चर्चा है कि डॉक्टर सिद्धार्थ पूर्वांचल में कई जटिल से जटिल रोगों का रिस्क लेकर ऑपरेशन किए हैं और मरीजों का जान बचाई है। ऑपरेशन करने में डॉ राजेश त्रिपाठी, डॉक्टर राजेंद्र सिद्धार्थ, डॉक्टर विनोद कुमार यादव, डॉक्टर सतीश पांडे, अक्षय कुमार, पोरस ,मुन्ना सिद्धार्थ, धर्मेंद्र यादव ,संजय सोनकर, व ओ पी यादव मौजूद रहे।पेट में कैसे गया गिलास देखें वीडियो ब्लू अक्षर पर क्लिक करें।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

न्यूज़ अब तक

Jaunpur : भाई ने पहले बेंत से गला दबाई फिर कर दिया आग के हवाले, कोर्ट ने सुनाई आजीवन कारावास और अर्थदंड की सज़ा।