Jaunpur : जौनपुर में एक और मृत्युभोज (तेरहवीं) का बहिष्कार, पूरा गांव मृत्युभोज न करने की खाई कसम।


न्यूज़ अब तक आपके साथ
देश प्रदेश का सबसे बड़ा न्यूज़ नेटवर्क बनाने का स्वतंत्र प्रयास जारी। ख़बर देखने के लिए क्लिक करें

उत्तर प्रदेश के जौनपुर जिले के खुटहन थाना क्षेत्र के ग्रामसभा मुबारकपुर (रुपिकापूरा) में 30 नवंबर बुधवार को श्रद्धांजलि कार्यक्रम का आयोजन किया गया, यह कार्यक्रम बरसाती यादव के मरणोपरांत आत्मा की शांति के लिए मृत्युभोज का बहिष्कार कर किया गया। जिसमें गांव क्षेत्र नात- रिश्तेदार समेत सैकड़ों लोग शामिल हुए। उपस्थित सैकड़ों लोगों ने यह शपथ लिया कि भविष्य में कभी भी मृत्यु भोज नहीं करेंगे साथ ही लोगों को ना करने की सलाह भी देंगे। यह श्रद्धांजलि कार्यक्रम मोहन लाल यादव, अनिल यादव ( ललई ) ने किया। पिता बरसाती यादव का देहांत 19 नवंबर दिन शनिवार को हो गया था। ग्राम प्रधान मुबारकपुर लाल साहब यादव ने कहा कि हम सभी लोगों को मिलकर समाज की सबसे बड़ी कुरुति जिसे मृत्युभोज कहा जाता है का बहिष्कार करना चाहिए, इस जबरजस्ती थोपे गए परंपरा की वजह से गरीब परिवार कर्जदार हो जाता है, समाज की लाज लज्जा में पड़कर अमीर-गरीब तबके के लोगों को इस मृत्युभोज जैसे कुरूतियों का सामना करना पड़ता है, जबकि तेरहवीं ( मृत्यु भोज ) पूर्ण तरह से कानूनन जुर्म भी है। इतना ही नही कभी-कभी गरीब परिवार लाल लज्जा बस अपना जमीन जायदाद बेचकर मृत्यु भोज जैसे निषेधात्मक कार्यक्रम को करता है। इससे आर्थिक एवं सामाजिक नुकसान हो रहा है, उपस्थित और लोगों ने कहा कि हम सभी समाज के लोगों को आगे आकर जागरूक करते हुए ऐसी जबरजस्ती थोपी गई परंपरा को जड़ समेत नष्ट करने का बीड़ा उठा लेना चाहिए। लोगों ने बताया कि मृतक की अंतिम इच्छा भी यही थी कि मेरे मृत्यु के बाद मृत्युभोज नही होना चाहिए समाज को जागरूक करते हुए तेरहवीं का बहिष्कार किया जाय। अंत में शोकाकुल परिवार के लोगों अनिल यादव, अंश यादव, मोहन लाल यादव ने कहा कि सभी से निवेदन करते हैं कि आप सभी लोग इस मृत्युभोज का बहिष्कार करें। क्लिक करें और देखें वीडियो

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

न्यूज़ अब तक

Jaunpur : भाई ने पहले बेंत से गला दबाई फिर कर दिया आग के हवाले, कोर्ट ने सुनाई आजीवन कारावास और अर्थदंड की सज़ा।