Jaunpur news : वंदना का बिहार में वनस्पति विज्ञान से प्रवक्ता पद पर हुआ चयन, संघर्ष जान रह जाएंगे हैरान, महिलाओं को लेनी चाहिए सीख।

Jaunpur news : वंदना का बिहार में वनस्पति विज्ञान से प्रवक्ता पद पर हुआ चयन, संघर्ष जान रह जाएंगे हैरान, महिलाओं को लेनी चाहिए सीख।

न्यूज़ अब तक आपके साथ
देश प्रदेश का सबसे बड़ा न्यूज़ नेटवर्क बनाने का सतत प्रयास जारी।
रिपोर्ट-@लक्ष्मण कुमार चौधरी
कौन कहता है कि महिलाएं आगे नही बढ़ सकती, कौन कहता है कि शादी होने के बाद महिलाएं पढ़ नही सकती, यदि कुछ पाने, कुछ कर गुजरने का जूनून हो तो कुछ भी असंभव नहीं होता, हौसला बुलंद हो तो बड़ी से बड़ी कठिनाईयां भी छोटी हो जाती है. इसके लिए अपनों का साथ होना बहुत जरूरी है। इसका जीता जागता सबूत वंदना रजक है। उन लोगों को वंदना रजक से सीख लेनी चाहिए जो उपरोक्त सभी बातें लोग कहते है।
बताते चलें कि वंदना रजक पत्नी सुरेश चंद्र रजक सौरइयां गोसाईपुर शाहगंज जौनपुर की रहने वाली है। इनका मायका तेज़ी बाजार गौरा खुर्द है। बता दें कि वंदना का चयन बिहार में वनस्पति विज्ञान प्रवक्ता के पद पर हुआ है, चयन होने की ख़बर लगते ही घर व मायके समेत नात- रिस्तेदारों में ख़ुशी की लहर दौड़ गई, स्वजनों ने वंदना को उनके इस सफलता पर बधाईयां दी है। वंदना ने तिलकधारी महाविद्यालय जौनपुर से वनस्पति विज्ञान से प्रथम श्रेणी में मास्टर डिग्री हासिल की है, बीटीसी कर जौनपुर में रहकर तैयारी कर रही थीं। वंदना की शादी 2012 में ही हो गई थी, शादी ले बाद वंदना का जीवन संघर्षों से भर गया। सबसे बड़ी बात ये है की गृहस्थ जीवन में रहकर भी वंदना ने हार नहीं माना, और मेहनत करती रही, वंदना के दो बच्चे है, एक लड़का 08 साल व एक बच्ची 03 साल। वंदना के पति सुरेश चंद्र रजक पेशे से वकील है। पूर्व लेखपाल संघ अध्यक्ष, लेखपाल दूधनाथ ने वंदना रजक को शुभकामनाएं दी है, बताया कि वंदना शुरू से ही मेधावी रही है।


-
Previous Post Next Post
ads

 ------- इसे भी पढ़ें-------



       

    نموذج الاتصال