Jaunpur news : हॉस्टल में 13 वार्षिक छात्रा ने की खुद'कुशी, पीएम रिपोर्ट के बाद मामले में होगी कार्यवाही।

न्यूज़ अब तक आपके साथ
देश प्रदेश का सबसे बड़ा न्यूज़ नेटवर्क बनाने का सतत प्रयास जारी।

यूपी के जौनपुर जिले के जलालपुर थाना क्षेत्र के गयासपुर गांव में प्रदेश सरकार द्वारा संचालित जयप्रकाश नारायण सर्वोदय बालिका विद्यालय के हॉस्टल में कक्षा नौ की एक 13 वर्षीय छात्रा ने दुपट्टे के सहारे पंखे में फाँसी लगाकर अपनी जान दे दी।
जानकारी के अनुसार उक्त थाना क्षेत्र के बिशुनपुर मझवारा गांव में छात्रा रूबी निषाद पुत्री दिनेश निषाद का ननिहाल है।रूबी बदलापुर क्षेत्र के जगदीशपुर बहरीपुर बटाऊबीर गांव के रहने वाले दिनेश निषाद की पुत्री थी। 2012 में जब रूबी का जन्म हुआ था तो उसके कुछ दिन बाद ही उसकी माँ सीमा को उसके पिता ने गला दबाकर मार डाला था। जिस मामले में उसे 10 वर्ष की सजा हुई थी। उसी समय से रूबी के नाना प्यारेलाल ने रूबी को अपने साथ ननिहाल में ही रख कर उसका पालन पोषण किया। मामा गोविंद निषाद ने इस वर्ष अप्रैल में रूबी का इस विद्यालय में कक्षा नौ में एडमिशन कराया, 20 मई को विद्यालय की छुट्टी होने के बाद रूबी घर गयी थी। जुलाई में स्कूल शुरू हो गया। मंगलवार की शाम को साढ़े चार बजे वह अपने मामा गोविंद के साथ विद्यालय आयी, एक डेढ़ घण्टे तक वह विद्यालय में मौजूद अन्य छात्राओं के साथ बेमन से खेलती रही। उसके बाद वह हॉस्टल के एक कमरे में गयी, और वहां एक तख्ते पर बाल्टी रखकर अपने दुपट्टे से पंखे के सहारे फाँसी लगा लिया। थोड़ी देर बाद उसके साथ कि लड़कियों ने उसको फाँसी से लटका देख बाहर मौजूद हॉस्टल इंचार्ज रीता श्रीवास्तव को बताया। वह भाग कर गयी तो उसके पैरों तले जमीन खिसक गई, इंचार्ज ने कुछ छात्राओं की मदद से उसे नीचे उतारा। हालांकि तब तक उसकी मौत हो चुकी थी। उधर घटना की सूचना पर पहुंचे थानाध्यक्ष मनोज सिंह, एसपी सिटी बृजेश कुमार, सीओ केराकत प्रतिमा वर्मा,सीडीओ साई सीलम तेजा, समाज कल्याण अधिकारी, नीरज कुमार बीडीओ सिरकोनी रेनू चौधरी व फॉरेंसिक टीम भी पहुंच कर जांच पड़ताल में लगी रही। इस घटना विद्यालय में दहशत का माहौल बन गया है। माहौल को देखते हुए सीडीओ ने बीडीओ को रात में छात्राओं व वार्डन आदि के साथ विद्यालय में रुकने को कहा।जिससे उन्हें भय न लगे। थाना प्रभारी निरीक्षक ने बताया कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद हो घटना के बारे में कुछ पता चल पायेगा, जिसके बाद आगे की कार्यवाही की जाएगी।
● एक और ख़बर के अनुसार 
बुधवार की सुबह इस घटना के बाद विद्यालय परिसर में लोगों की भीड़ एकत्रित हो गई है। मृतका इसी थाना क्षेत्र के रहने वाले गोविंद निषाद की भांजी रूबी निषाद अपने मामा के यहां रहकर पढाई करती थी। मंगलवार को एक महीने की छुट्टी के बाद गोविंद निषाद अपनी भांजी को हॉस्टल में छोड़कर चले गए। शाम को करीब 7 बजे के बीच छात्रा ने फांसी लगाकर अपनी जान दे दी। साथ रहने वाली अन्य छात्राओं से जानकारी ली गई तो उन्होंने बताया की छात्रा हॉस्टल लाइफ से मानसिक तनाव में चल रही थी और खुद को कैदी महसूस करती थी। घटना की सूचना पर पहुंची पुलिस ने मृ​तक छात्रा के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। अब सवाल ये उठता है कि आंखिर एैसा क्या कारण था जिससे छात्रा हॉस्टल में खुद को कैदी महसूस करती थी। रूबी के परिवार वालों का कहना है कि मेरी पुत्री की हत्या की गई है, पुलिस द्वारा इसकी जांच पड़ताल की जा रही है।


-
और नया पुराने

Edited by- न्यूज़ अब तक


Youtube Facebook instagram Twitter-x image

Powerd by

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
ads

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

نموذج الاتصال